शुक्रवार, 12 जुलाई 2013

कृपया मेरा साथ दो


 हे ईश्वर - कृपया मेरा साथ दो
डूब न जाऊं मझधार में
बढा के अपना हाथ तुम
अब तो मुझे उबार लो ।।
अभिमान से कहीं मैं भर न जाऊं
दुश्मन से कहीं डर न जाऊं
काम कभी न हो मुझ से ऐसा
की खुद का आइना देख न पाऊं ।।
... छोटी सी ये जिन्दगी
पाप पुण्य का लेखा है
कोई माने या फिर न माने
पर मैंने तो ये देखा है।।
जीवन बीता अब तक जितना
सब दे दिया संसार को
हाथ रहे हैं खाली अब तक
अब प्रचूर अपना प्यार दो
और जीवन मेरा संवार दो
हे ईश्वर - कृपया मेरा साथ दो ।।

सुशील कुमार पटियाल
07-07-2013
See more

Thanks for loving me

Thanks for loving me

Bye bye dear

Bye bye dear